पटना| विधानसभा का पहला सत्र सोमवार से शुरू होगा। प्रथम सत्र 23 नवंबर को 11:00 बजे पूर्वाहन से प्रारंभ होकर 27 नवंबर तक चलेगा। इस बार का विशेष सत्र इस मायने में भी खास होगा कि कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए दोनों सदनों की कार्यवाही की जगह बदल जाएगी।विधानसभा की कार्यवाही 23 नवंबर से 27 नवंबर तक नए बने सेंट्रल हॉल में चलेगी। इसी हॉल में प्रथम दो दिन सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी और 26 नवंबर को राज्यपाल फागू चौहान संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे। संबंधित अधिसूचना रविवार को जारी कर दी गई है। विधान परिषद की कार्यवाही भी पहली बार विधानसभा में होने जा रही है।

मानसून सत्र के दौरान भी दोनों सदनों की जगह बदली गई थी। संसदीय व्यवस्था के करीब सौ सालों के इतिहास में पहली बार विधानमंडल परिसर से बाहर ज्ञान भवन में सत्र का आयोजन किया गया था। विधानसभा चुनाव में इस बार 90 को पहली बार विधायक बनने का मौका मिला है.

23 नवंबर से शुरू होने वाले बिहार विधान सभा सत्र के मद्देनज़र विधान मंडल परिसर एवं परिसर से बाहर आसपास के क्षेत्रों में विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लागू किया गया है। इसके अंतर्गत 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों का जमाव या जुलूस , हथियार एवं रोशनी सहित या रहित धरना, घेराव, किसी भी तरह का आग्नेयास्त्र लेकर चलना ,गोली बारूद, विस्फोटक सामग्री अथवा फरसा गड़ासा ,भाला ,छुरा या अन्य किसी भी प्रकार के घातक अस्त्र-शस्त्र लेकर चलना तथा बिना अनुमति के लाउडस्पीकर बजाना निषेध रहेगा|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here