औरंगाबाद| के मुस्लिम भाइयों ने शुक्रवार को नमाज़ अदा करते ही छठ व्रतियों के सेवा में लग गए। नावाडीह मोर,जमा मस्जिद रोड , पर स्टॉल लगा कर फल और छठ पूजा सामग्री वितरण किया है, लोगो को सुभकामनाएँ भी दी और घूम घूम कर भी पहुंचाएं हैं फल और छठ पूजा की सामग्री।कहना है कि छठ पूजा लोक आस्था का पर्व है। इसमें बहुत शुद्धता बरती जाती है। यह पर्व पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाई जाती है। वहीं, हम लोग हर साल छठ पूजा पर पूजन सामग्री और फल वितरन करते है।
पूरे देश में लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा की धुम है। इसी बीच बिहार के औरंगाबाद जिले में हिन्दू- मुस्लिम भाइचारे की एक अनोखी मिसाल देखने को मिली है।औरंगाबाद के शहर के मुसलमान भाइयों ने एक अनोखी पहल की है, जिसे देख कर आप खुश हो जाएंगे। दरअसल, जुम्मे की नमाज अदा करने के बाद शहर के मुसलमान भाइयों ने छठ करने वाले महिलाएं और पुरुषों के बीच छठ पूजा की सामग्रियां और फल वितरण की।

कहा जा रहा है कि मुसलमान भाइयों ने सैकड़ों श्रद्धालुओं के बीच पूजन सामग्री और फल वितरण की। मुहम्मद शाहनवाज़ रहमान उर्फ सल्लू खान ने कहा कि मुसलमान भाइयो ने छठ वृत्त श्रद्धालुओं के बीच फल और पूजन सामग्री वितरण की। पूजन सामग्री के साथ-सथा नारियल, सेव, केला, अमरुद और निंबू थे।इसके अलावा एक अगरबत्ती भी दी गई, ताकि घाट पर उसे जलाकर पूजा की जा सके। सल्लू खान न कहा कि इस पावन पर्व में हम मुस्लिम भाइयो सामाजिक एकता के भागीदारी बन कर कौमी एकता का संदेश दे रहे हैं । हम लोग मुस्लिम समुदाय के लोग को यहाँ बढ़ चढ़ कर सहयोग कर रहे है। यहाँ धर्म जाती और महजब की दीवारें और सामाजिक स्वार्थ एक सुत में बंध कर रखती है। औरंगाबाद के मुस्लिम समाज के लोगो ने गंगा यमुना कर तहज़ीब की मिसाल कायम किया है। औरंगाबाद के लोग हमेशा आपस मे मिलजुल के रहते हैं और एकता का संदेश दिया है। हमलोग की धर्म इंसानियत है।

औरंगाबाद से कुन्दन कुमार,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here