Home MASAUDHI अतीत के साक्ष्य हमारे धरोहरों को सलाम-अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस

अतीत के साक्ष्य हमारे धरोहरों को सलाम-अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस

बुजुर्ग हमारे लिए ईश्वर के अवतार होते हैं|जिनके आशीर्वाद से हमारा पालन पोषण होता है|उनके प्रति मन में सम्मान और अटूट प्रेम होना स्वभाविक है।लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण होता है उस अवस्था में उनके साथ होना जब वे असहाय और अक्षम होते हैं।यही उनके प्रति हमारा प्रेम और हमारी सच्ची श्रद्धा होती है।भले ही समयाभाव में यह हमेशा संभव न हो,लेकिन इस एक दिन के लिए भी हम उनके प्रति जितने समर्पित हो सकते हैं होना चाहिए| क्योंकि उन्हें सिवाए प्रेम के और कुछ नहीं चाहिए।

अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस मनाने की शुरुआत सन् 1990 में की गई थी। विश्व में बुजुर्गों के प्रति होने वाले दुर्व्यवहार और अन्याय को रोकने के लिए लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए 14 दिसंबर 1990 को यह निर्णय लिया गया। तब यह तय किया गया कि हर साल 1 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के रूप में मनाया जाएगा,और 1 अक्टूबर 1991 को पहली बार अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस या अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस मनाया गया।इसी मौके पर आज बुनियाद केंद्र मसौढ़ी के परिसर में अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस का आयोजन किया गया| जिसमें वृद्ध जनों एवं विधवाओं को मास्क व माला पहना कर सम्मानित किया गया|इस मौके पर मौजूद सभी लोगों को उनके अनमोल विचारों व अनुभवों से बहुत कुछ सिखने का भी अवसर मिला|उन्हें समाज में समुचित अधिकार व सम्मान के साथ उचित देखभाल मिल सके इसके लिए बुनियाद केंद्र के वर्तमान प्रबंधक रामावती कुमारी द्वारा मार्गदर्शन व सुझाव भी दिया गया|साथ ही बुनियाद केंद्र में संचालित सुविधाओं जैसे फिजियोथेरेपी, स्पीच थेरेपी, ऑडियोमेट्री,आंख जांच,मोबिलिटी,उन्मुखीकरण कृत्रिम अंग उपकरण सेवाओं अन्य सामाजिक सुरक्षा पेंशन से संबंधित अन्य सारी सुविधाओं के बारे मे विस्तृत जानकारियां दी गई|करीब 50-60 की संख्या में मौज़ूद समाज के अतीत के साक्ष्य हमारे धरोहरों ने अपनी अनुभवों से सब का ज्ञान वर्धन तो किया ही साथ ही विपरीत परिस्थितियों में जीने का हुनर भी बता गए|

इस अवसर पर बुनियाद केंद्र प्रबंधक रामावती कुमारी द्वारा कार्यक्रम का प्रबंधन बड़ा ही कुशल तरीके से किया गया|केंद्र के सभी विशेषज्ञ डॉ संजीत सहाय,डॉक्टर कृतिका,श्री ज्ञानेंद्र कुमार सिंह,विजय कुमार,सुधाकर कुमार, रानी कुमारी,विजया शांति,सुनीता कुमारी,अनुपमा कुमारी एवं नवजीत विमल जी ने अपना सराहनीय योगदान देकर इस कार्यक्रम को सफल बनाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

जमीन अतिक्रमण को लेकर विरोध मे शव को सड़क पर रख किया जाम

नावदा : जिले के कादिरगंज ओपी क्षेत्र के कादिरगंज बाजार के गोसाईं जाति के शमसान की जमीन कब्जा किये जाने के विरोध...

महागठबंधन के बैठक में चुनाव तैयारी समिति का हुआ गठन

समस्तीपुर : महागठबंधन के घटक दलों क्रमशः राजद, भाकपा माले, भाकपा, माकपा, कांग्रेस के प्रखण्ड अध्यक्ष एवं सचिव की एक उच्च...

डायन महंगाई बीजेपी की भौजाई लगती हैं-तेजस्वी यादव

समस्तीपुर : बिहार विधानसभा चुनाव में ताबड़तोड़ सभा कर रहे हैं। राजद नेता तेजस्वी यादव।तेजस्वी ने समस्तीपुर के उजियारपुर की सभा में...

स्वर्गीय कार्तिक उरांव की जयंती मनाई गई-कांग्रेस

झारखंड : किसान परिवार में जन्मे असीमित प्रतिभा के धनी स्वर्गीय कार्तिक उरांव काफी संघर्ष के बाद उच्च शिखर पर पहुंचे थे।...

Recent Comments