Tuesday, October 12, 2021
Homeदिल्लीफर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश, बीमा पॉलिसी के नाम पर ठगी करने...

फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश, बीमा पॉलिसी के नाम पर ठगी करने वाले 30 गिरफ्तार।

साइबर सेल ने रविवार को बीमा पॉलिसी पर बिना ब्याज के लोन दिलाने का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने 30 जालसाजों को गिरफ्तार किया है। ये नोएडा सेक्टर-16 के एक औद्योगिक भवन में ठगी का कॉलसेंटर संचालित कर रहे थे। पकड़े गए आरोपियों में 16 पुरुष और 14 महिलाएं हैं। क्षेत्राधिकारी (साइबर अपराध) अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि पिछले दिनों नगर कोतवाली में लोन के नाम पर 56 हजार रुपये की ठगी का मामला सामने आया था।


साइबर सेल ने जांच करते हुए शुक्रवार को भोपुरा के रहने वाले एक जालसाज चंद्रशेखर को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने जब इससे पूछताछ की तो पता चला कि यह अकेले नहीं है, बल्कि एक बड़ा गिरोह इस तरह की ठगी को अंजाम दे रहा है। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने नोएडा सेक्टर 16 स्थित एक औद्योगिक भवन में संचालित कॉल सेंटर का खुलासा करते हुए मौके से 30 जालसाजों को गिरफ्तार किया है। हालांकि इस कार्रवाई के दौरान कॉलसेंटर का मास्टर माइंड दीपक समेत पांच आरोपी भागने में सफल हो गए। पुलिस ने इन सभी जालसाजों की पहचान कर ली है। उनकी तलाश में दबिश जारी है।
ऐसे बनाते थे शिकार
पुलिस की पूछताछ में जालसाजों ने बताया कि बड़ी पॉलिसी धारकों को वह फोन कर झांसा देते थे कि उनकी पॉलिसी पर बिना ब्याज के लोन मिल सकता है। लोन की राशि अब तक जमा रकम का 90 प्रतिशत तक बताते थे। साथ में यह भी कहते थे कि इससे उनकी पॉलिसी पर कोई असर नहीं पड़ेगा। इससे पॉलिसी धारक आसानी से इनके झांसे में आ जाते थे और इनके द्वारा मांगी गई रकम इनके खाते में स्थानांतरित कर देते थे।


गिरोह का मिला मुंबई कनेक्शन
ठगी के इस गिरोह का मुंबई कनेक्शन भी मिला है। कॉलसेंटर से पकड़े गए राहुल कुमार की तलाश करते मुंबई पुलिस भी शनिवार देर रात गाजियाबाद पहुंची। मुंबई में रहने वाले किसी व्यक्ति ने राहुल कुमार के खिलाफ डेटा चोरी कर ठगी का मामला दर्ज कराया था। हालांकि इसके खिलाफ पुख्ता सबूत नहीं होने की वजह से मुंबई पुलिस फिलहाल पूछताछ कर वापस लौट गई है। लेकिन जल्द ही इस पूछताछ के आधार पर जरूरी सबूत जुटाकर मुंबई पुलिस द्वारा आरोपी का प्रोडक्शन वारंट हासिल किया जाएगा।

50 हजार लोगों का डाटा बैंक मिला
साइबर सेल प्रभारी सुमित कुमार के मुताबिक कॉलसेंटर से पुलिस ने एक दर्जन से अधिक रजिस्टर जब्त किए हैं। इसमें 50 हजार से अधिक लोगों का डाटा बैंक मिला है। यह डाटा बैंक उनका है जिन्होंने बड़ी-बड़ी बीमा पॉलिसी ले रखी हैं और इन पॉलिसी में इन लोगों ने लाखों रुपये जमा कर रखे हैं। इसके अलावा इनके पास 19 मोबाइल फोन, 14 सिमकार्ड वाले वॉकी-टॉकी व एक कार समेत अन्य सामान भी बरामद किया है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments