Monday, October 11, 2021
Homeबिहारकिसानों के लिए प्रेरणा श्रोत बने रांची के नंद किशोर शाहू

किसानों के लिए प्रेरणा श्रोत बने रांची के नंद किशोर शाहू

मल्टी क्रॉपिंग यानी बहू फसलीय पद्धति किसानों के लिए वरदान साबित हो रहा है। रांची के एक ऐसे किसान है जिन्होंने अपने खेतों में बहु फसल तकनीक को अपनाकर कोरोना काल में भी अच्छी कमाई की है।

रांची जिले के चानहो प्रखंड के किसान नंद किशोर साहू पिछले कई वर्षों से लगभग 13 एकड़ भूमि पर मल्टीपल क्रॉपिंग कर रहे हैं। सूझ भुज के बल पर नंद किशोर साहू अपने खेतों में एक साथ पत्ता गोभी, धनिया और अदरक की खेती तो करते हैं। सब्जी के साथ वे अपने खेतों में हाइब्रिड किस्म के पपीते का भी भरपूर मात्रा में उत्पादन करते हैं।

बहु फसलीय पद्धति को अपनाने की वजह से कोरोना काल में भी नंद किशोर साहू ने अच्छी खासी कमाई करके दूसरे किसानों के लिए प्रेरणा के स्रोत बन गए हैं। काल में मांग के अनुरूप नंद किशोर साहू ने अदरक, बीट और गाजर का भरपूर उत्पादन किया और मुनाफा कमाया।

नंद किशोर साहू को कृषि के क्षेत्र में केंद्र से मिलने वाली योजनाओं का भी लाभ मिलता है। नंदकिशोर की पत्नी मंजू देवी बताती है कि ड्रिप से खेती करने के कारण बारिश के मौसम में भी फसलों को नुकसान नहीं होता है।

बहु फसलीय पद्धति के अंतर्गत भूमि के एक छोटे से टुकड़े में भी कई फसल एक साथ उगाने से समय के साथ लागत में भी कमी आती है जिसका सीधा लाभ किसानों को मिलता है।

रांची से अभिषेक पाठक की रिपोर्ट

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments